रविवार, सितंबर 26, 2010

एक अलग अनुभव...

दो हफ्ते पहले एक मित्र का फोन आया कि एक हिन्दी सीरियल बना रहा हूँ, जरा आ जाना, कुछ बात करना है. वैसे वो पहले भी यहाँ फिल्म वगैरह बना चुका है. मौका देख कर पहुँचे उसके दफ्तर तो हाल चाल लेने के बाद उसने एक साउन्ड ट्रेक सुनाया और एक गीत. फिर कहा इस नेसल (नाक की) टोन के साथ एक गीत लिख दो तो वो काम आ जाये. मैने कहा कि भाई, किसी प्रोफेशनल से लिखा ले, मेरा ऐसा अनुभव नहीं है, जबरदस्ती इसके चक्कर में पूरा मामला ही न फ्लॉप हो जाये.

मगर न उसे मानना था, न माना. जिद पकड़ली कि कुछ तो लिखो. नहीं पसंद आयेगा तो फिर किसी और को ट्राई करेंगे. फिर चाय का दौर चला और मैं अपना लेपटॉप लिए कुछ कुछ टाईप करने की कोशिश करता रहा और वो फोन पर किसी के साथ सीरियल की रुपरेखा बनाने में व्यस्त था. चाय खत्म होते होते, मैंने कुछ पंक्तियाँ उसे दीं और और उसके म्यूजिक डायरेक्टर को दिखाई. उसने उसे गा कर मित्र को सुनाया और बस, यही फायनल है...सुनकर लगा कि जाने क्या होगा इस सीरियल का.

घर आ कर पत्नी को बताया. जरा सा टूं टां करके साऊन्ड ट्रेक पत्नी को भी बताया..उसी को आधार बना कर उसने गुनगुनाया है, आप भी पढ़ें और सुनें..साथ ही वो गीत जो उस सीरियल बनाने वाले मित्र के जेहन में गूँज रहा था और वो टुकड़ा जो उसने मुझे सुनाया था लिखने के लिए:


जाना, दूर नहीं जाना
जाना, दूर नहीं जाना
मुझसे बिछड़ के
दूर नहीं जाना
जाना, दूर नहीं जाना

बीती हुई रातों मे
दूर हुये थे तुम
भीगी हुई बारिशों में
भीग रहे थे तुम..

गिर के संभलने को
मेरा हाथ थामा.

जाना..मेरा हाथ थामा.....


जाना!!!!!! मेरा हाथ थामा....

जाना, दूर नहीं जाना
मुझसे बिछड़ के
दूर नहीं जाना
जाना, दूर नहीं जाना

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम

तेरी हर अदा का
दिल हुआ दिवाना

जाना...दिल हुआ दिवाना

जाना, दूर नहीं जाना
मुझसे बिछड़ के
दूर नहीं जाना...

-समीर लाल ’समीर’

नोट: पोस्ट शायद हिन्दी सिनेमा से जुड़े ब्लॉगर्स का ध्यान आकर्षित करे इस प्रतिभा की ओर, यही एक मात्र कोशिश है. :)


साधना का गुनगुनाना:













वो गीत जो निर्माता के दिमाग में गूँज रहा था:














बस, आज इतना ही:

Indli - Hindi News, Blogs, Links

106 टिप्‍पणियां:

अजय कुमार ने कहा…

अच्छा है ,पर कहीं आप ब्लागिंग का समय कम तो नहीं करेंगे ।
बधाई हो ,इस क्षेत्र में भी डंका बजे ।

संजय भास्‍कर ने कहा…

आनंद आ गया
बहुत ही रोचक रही आपकी आज की पोस्ट

M VERMA ने कहा…

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम
बहुत सुन्दर है यह अनुभव ..
अग्रिम बधाई .. निश्चित ही सफल गीत साबित होगी.

संजय भास्‍कर ने कहा…

समीर जी
इस क्षेत्र में भी डंका बजे ।
इंतजार रहेगा...

खबरों की दुनियाँ ने कहा…

शुभ कामनाएं , आप इधर भी आएं और छा जाएं । हाल-ए-दिल आप भी सुना जाएं ।

Madhu chaurasia, journalist ने कहा…

सर सीरियल का नाम बता दें....तो हम उसे जरूर देखेंगे...आखिर आपकी लिखी रचना देखने और सुनने को भी तो मिले....अच्छी रही ये रचना भी...
धन्यवाद

Khushdeep Sehgal ने कहा…

कनाडा में भी हिंदी सीरियल बनते हैं, जानकर खुशी हुई...

गुरुदेव अपनी इस प्रतिभा को बॉलीवुड में बड़े पैमाने पर अपनाइए...आपके नामराशि वाले सबसे दिग्गज गीतकार समीर की छु्ट्टी हो जाएगी...

साधना जी की आवाज़ में गीत ने और समां बांध दिया...

जय हिंद...

वाणी गीत ने कहा…

कनाडा में हिंदी सीरियल भी बनते हैं ....सूचना प्राप्त हुई वरना तो सुना ये था कि वहां लोंग हिंदी चैनल तक नहीं देखते ...
गीत अच्छा है ...गया भी अच्छा है ...
एक और नए क्षेत्र में आपके दखल और कामयाबी की बधाई और शुभकामनायें ...!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

बहुत-बहुत बधाई हो!
--
पोस्ट पढ़कर और आपका गीत साधना जी के स्वर में सुनकर मन प्रसन्न हो गया!

विवेक रस्तोगी ने कहा…

वाह मजा आ गया, बधाई आपको, इस क्षैत्र में भी आप सफ़ल हों, गीत जन जन की जुबान पर चढ़ जाये।

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

बधाइयाँ जी बधाईयाँ
जय हो।

रश्मि प्रभा... ने कहा…

badhaai

अजित गुप्ता का कोना ने कहा…

बहुत अच्‍छा प्रयास, जारी रखिए। हम भी गर्व से कह सकेंगे कि भाई वो सीरियल देखना हमारे समीर जी का गाना है उसमें।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

हिट होना है। बड़ी कोमलता है शब्दों और धुन में। शुभकामनायें।

seema gupta ने कहा…

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम

बेहद शानदार गीत बन पड़ा है, खुबसूरत
regards

रंजन ने कहा…

मस्त गाना लिखा है..

वैसे नेसल टोन में हिमेश भाई गायेगें क्या?

Abhishek Ojha ने कहा…

बढ़िया ! बधाई जी.

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

इस नई शुरुआत के लिए ,जिसे अभी बहुत आगे जाना है ,बधाई स्वीकार करें !

abhi ने कहा…

बहुत ही खूबसूरत गीत है चचा..वैसे सीरिअल का नाम भी बता ही दें...हम तो देखते नहीं हैं सीरिअल लेकिन आपने लिखा है तो सुनना तो है ही. :)

समयचक्र ने कहा…

बीती हुई रातों मे
दूर हुये थे तुम
भीगी हुई बारिशों में
भीग रहे थे तुम..

जाना, दूर नहीं जाना
मुझसे बिछड़ के
दूर नहीं जाना...
दूर जाना नहीं .... आपने बहुत बढ़िया गीत लिखा है ....आभार

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम

कोमल भाव से रचना गीत , अच्छा लगा ..नए क्षेत्र पर आपकी दस्तक ....इसके लिए बधाई ...

बेनामी ने कहा…

waah.. badhai ho sir......
umeed hai humein bhulenge nahi...
dher saari shubhkamnayein....

उम्मतें ने कहा…

सबसे पहले तो दिली मुबारकबाद !



फिर आशंका ये कि आपकी नोट लगी प्रचार सामग्री से मित्रगण धोखे में आकर आपसे नोटों की उम्मीद ना करने लग जायें आखिर को समझदार को इशारा ही काफी होता है :)

डॉ टी एस दराल ने कहा…

तेरी हर अदा का
दिल हुआ दिवाना

यही कहने का दिल कर रहा है ।
बढ़िया प्रयास है ।
हिट रहेगा सीरियल ।

गजेन्द्र सिंह ने कहा…

समीर जी ,
सीरियल तो पता नहीं चले या ने चले पर आपका गीत बहुत बढ़िया है ....
बहुत खूबसूरती के साथ शब्दों को पिरोया है इन पंक्तिया में आपने .......

पढ़िए और मुस्कुराइए :-
आप ही बताये कैसे पार की जाये नदी ?

Manoj K ने कहा…

क्या खूब समीर जी .. यहाँ भी कमाल किया है आपने..

मनोज खत्री

Akanksha Yadav ने कहा…

बधाई हो समीर जी...अब तो नए क्षेत्र में बुलंदियाँ !!

P.N. Subramanian ने कहा…

वाकई बढ़िया रहा. बधाईयाँ.

Parul kanani ने कहा…

sir ..aapne tahe-dil se koshish ki hai...aapki koshish rang laye..aapke dost ko bhi shubhkamnayen!

vandan gupta ने कहा…

बहुत खूब्…………………बधाईयाँ।

Dr.Bhawna Kunwar ने कहा…

geet ke bol bahut ache han or gaya bhi bahut acha gaya ha meri or se shubhkamnaye..sadhna ji ko bhi badhai..

संजय भास्‍कर ने कहा…

आपने बहुत बढ़िया गीत लिखा है
बहुत-बहुत
बहुत-बहुत
बहुत-बहुत
बहुत-बहुत
...............बधाई हो!

राज भाटिय़ा ने कहा…

हमारी शुभकमनाये जी , अब तो फ़िल्म के मुफ़्त के डी वी डी के हक दार हम भी है:)

निर्मला कपिला ने कहा…

बहुत मधुर आवाज है साधना जी की। निश्चित ही ये कभी फिल्मी दुनिया में गूँजेगी। आप दोनो को अग्रिम बधाई और शुभकामनायें

Gyan Darpan ने कहा…

बधाई जी !

Anand Rathore ने कहा…

achcha hai... pls recording ke baad fir uplaod keren..

रंजना ने कहा…

वाह...क्या बात है....
सुन्दर गीत रचा आपने...
और भाभी जी ने भी कमाल का गाया है...

हिट तो होना ही है....निश्चिन्त रहें...

RAJNISH PARIHAR ने कहा…

बढ़िया ! बधाई और शुभकामनायें ...!

shikha varshney ने कहा…

क्या बात है ,क्या बात है ,क्या बात है ..बहुत बहुत बधाई... अब बॉलीवुड दूर नहीं .....

Archana Chaoji ने कहा…

बधाई...आपको
आभार साधना जी का...

पद्म सिंह ने कहा…

रोचक ! गीत अच्छा बन पड़ा है ...
आप इण्डिया में भी हिट हो सकते हैं बशर्ते
"मुन्नी बदनाम" टाइप का कुछ लिखें ... :)

Shah Nawaz ने कहा…

बहुत ही बेहतरीन गीत लिखा है आपने तो समीर जी.... सुन कर गाने का और भी लुत्फ़ आया....

ashish ने कहा…

वाह वाह , बहुत बढ़िया रचना , अच्छा है जी , थोड़े दिनों बाद हम लोगे सुनेंगे , गीतकार समीर को . बधाई हो जी .
http://ashishkriti.blogspot.com/

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम

तेरी हर अदा का
दिल हुआ दिवाना

बहुत शानदार गीत. सीरीयल तो दौडेगा जी, हम भी कुछ बनाने की तैयारी करते हैं. आप भी जरा तैयार रहियेगा.

रामराम

NK Pandey ने कहा…

वाह क्या गीत गाया है समीर भाई। मुझे लगता है कोई फ़िल्म वाला इस ब्लॉग से टकरा गया तो...पक्का आपको रोल भी मिलने वाला है जी।

विजय तिवारी " किसलय " ने कहा…

समीर जी
आप की प्रविष्टियों के तो सभी कायल हैं.
आज की प्रविष्टी भी रोचक रही.
आप द्वारा लिखा गीत और ख़ास तोर पर निम्न पंक्तियाँ
अंतस के आखिरी छोर तक पहुँची.
- विजय तिवारी " किसलय "

चंद्रमौलेश्वर प्रसाद ने कहा…

बधाई साहब जी॥

चला मुरारी गीतकार बनने :)

पी.सी.गोदियाल "परचेत" ने कहा…

वाकई एक अलग अनुभव होगा यह !
हम तो बस यही दोहराएंगे कि ;
पी जाओ सब ग़मों को तुम आंसू में घोलकर ,
खुशिया लुटाकर जीने का इक ढंग है जिन्दगी !

अपने प्रसाद जी तो हमसे दो हाथ आगे है , आखिर हमारे सीनियर जो है :)

कविता रावत ने कहा…

सीरियल का इंतजार रहेगा...
साधना जी और आपको अग्रिम बधाई शुभकामनायें

कविता रावत ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
सुज्ञ ने कहा…

बेहद कर्णप्रिय है, ज़बां पे चढेगा।

Anjana Dayal de Prewitt (Gudia) ने कहा…

Very nice!!! All the best for the new venture, sir!

संतोष त्रिवेदी ने कहा…

'तेरी हर अदा का दिल हुआ दीवाना'लाइन थोडा कमज़ोर पड़ रही है,वैसे गीत में वज़न है....कोशिश करें,आप कर सकते हैं.

dhiru singh { धीरेन्द्र वीर सिंह } ने कहा…

धुन पर लिखना अपने आप मे दुश्कर कार्य है खासकर शब्दो का चयन और अर्थ के मामले में . आप तो पहले प्रयास मे खरे उतरे

स्वप्निल तिवारी ने कहा…

badhiya lyrics hai sameer ji...ab to aap se bachakr rahna hoga ...hum bhi to yahi sab try kar rahe hain ...waise aap ki rachna zaroor dhyan kheenchegi ...shailesh bharatwasi ji se aap ki kitab bikhre mtoi bhi mili hai kuch ek ghazlen bahut pasand aayi hain

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

यह भी खूब रही..

Arvind Mishra ने कहा…

सुन्दर !

S.M.Masoom ने कहा…

Kaamyabi yahaan bhee milegee kyonki aap nabz pakadne ke mahir hain.

Mahak ने कहा…

मुझे आपका लिखा हुआ गीत ओर साधना जी का इसे एक धुन में गाया जाना बहुत पसंद आया

बहुत बढ़िया Sir

महक

प्रवीण ने कहा…

.
.
.
सुपर-डुपर हिट होगा जी यह गाना...
आने दीजिये...
और फिर आप को भी बॉलीवुड आना ही होगा!


...

कडुवासच ने कहा…

...behatreen !!!

संगीता पुरी ने कहा…

वाह ..

बढिया ..
बधाई !!

वीना श्रीवास्तव ने कहा…

बहुत सुंदर गीत है अच्छा लगा पढ़कर..बधाई
http://veenakesur.blogspot.com/

अनामिका की सदायें ...... ने कहा…

बहुत सुंदर गीत लिखा...
बधाई हो नए क्षेत्र में कदम रखने के लिए.

डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali) ने कहा…

आज की पोस्ट में मज़ा आ गया... बहुत बहुत बधाई आपको...

डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali) ने कहा…

आज की पोस्ट में मज़ा आ गया... बहुत बहुत बधाई आपको...

Satish Saxena ने कहा…

तो आप स्टार बन गए सर ! उड़नतश्तरी हमें दे जाना २० साल की लीज़ पर ...
शुभकामनायें !

ज्योति सिंह ने कहा…

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम
bahut khoob .

ज्योति सिंह ने कहा…

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम
bahut khoob .

स्वप्न मञ्जूषा ने कहा…

अरे वाह ई तो बहुत ही बढ़िया बात रही..और मेहरारू (साधना जी ) की आवाज़ में जो खनक है अब का कहेंगे हम भी...
बहुते बढियां...आप तो बस इसमें भी सफलता का जम्प मार ही दीजियेगा...कोई सक नहीं है...
हाँ नहीं तो..!!

शिवम् मिश्रा ने कहा…


बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

mehek ने कहा…

waah sunder geet,badhai.

Urmi ने कहा…

बहुत सुन्दर, शानदार और रोचक पोस्ट रहा! बहुत बहुत बधाई समीर जी! आप अवश्य सीरियल का नाम बता दीजियेगा! हालाकि मैं तो पर्थ में देख नहीं सकूँगी पर अपने माँ पिताजी को इसके बारे में ज़रूर बताउंगी!

G Vishwanath ने कहा…

बधाई!
तो अब आप भी show biz में आ गए हैं!
सीरियल तैयार होने के बाद हमें सूचना दीजिए!
आशा है कि अगली बार आपको एक पूरा स्क्रिप्ट लिखने का मौका मिल जाएगा।
शुभकामनाएं।
जी विश्वनाथ

bhuvnesh sharma ने कहा…

हिन्‍दी फिल्‍म जगत को एक नहीं दो प्रतिभाएं एक साथ मिलने वाली हैं :)

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

सफल गीत!अग्रिम बधाई

सदा ने कहा…

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम ।


बहुत ही सुन्‍दर पंक्तिया, भावमय शब्‍द, और आपको अग्रिम शुभकामनाएं, नये क्षेत्र में प्रवेश करने का ।

SATYA ने कहा…

बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनायें

यहाँ भी पधारें:-
ईदगाह कहानी समीक्षा

रेखा श्रीवास्तव ने कहा…

अब पाला बदलने की सोची है , बिल्कुल नाइंसाफी होगी . वैसे फिल्मों में जाने के पूरे पूरे लक्षण समझ में आने लगे हैं .
मेरी शुभकामनाएं.

डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति ने कहा…

jana door nahi - blog se idhar udhar.. sundar rachnaa aur badhai ..

दिगम्बर नासवा ने कहा…

वाह समीर भाई सीरियल वाले ..... बहुत मज़ा आयगा .....

शोभना चौरे ने कहा…

badhai ho
gana abhi sunna baki hai

रूप ने कहा…

क्या सीरिअल मे काम मिलेगा !

विष्णु बैरागी ने कहा…

बराए महरबानी, उन कामों की सूची प्रदान करें जो आप नहीं कर सकते।

मना मत करना,
मना मत करना

शोभना चौरे ने कहा…

बहुत सुन्दर गाया है साधनाजी ने |
सीरियल बन जाये तो भारत में खबर कीजियेगा

Shabad shabad ने कहा…

सबसे पहले तो मुबारकबाद कबूल कीजिए !!!
बहुत अच्छा लगा यह जानकर कि अब आप अपनी कला को सीरियल में लेकर जा रहें हैं....
यह कला सब के पास नहीं होती ...
इस नए क्षेत्र में आपकी कामयाबी के लिए पहले से ही बधाई और शुभकामनायें ...!

Asha Joglekar ने कहा…

वाह जी अब इस तरफ को भी चल पडे । गीत वैसे फिल्मों के काम का है । साधना जी का गुनगनाना .......वाह ।

S.M.Masoom ने कहा…

खुशियाँ लुटा के जीने का एक ढंग है ज़िंदगी. बहुत ही उच्च विचार. क्या मैं इन शब्दों का इस्तेमाल अपने ब्लॉग मैं, आप के नाम से कर सकता हूँ ?

ZEAL ने कहा…

Versatile !...Congrats !

Dr Xitija Singh ने कहा…

नई शुरुआत के लिए बहुत बहुत बधाई समीर जी ...भगवान् आपको वहाँ भी सफलता प्रदान करे....

आपने मेरे ब्लॉग पर दर्शन दिए और उत्साह बढ़ाया... उसके लिए धन्यवाद ...

कुमार राधारमण ने कहा…

एक और सफलता के लिए बधाई स्वीकार करें। ब्लॉगिंग टेलीवुड तक जा पहुंचा,एक बड़ी कामयाबी है।

कृष्ण मुरारी प्रसाद ने कहा…

नमस्कार....

Swarajya karun ने कहा…

गीत कर्णप्रिय है. संवेदनाओं की अनुगूंज है उसमे .

सु-मन (Suman Kapoor) ने कहा…

बहुत सुन्दर..............

Dev K Jha ने कहा…

सही रही..बढिया गीत लिखा.......

राम त्यागी ने कहा…

जय हो !!

दीपक "तिवारी साहब" ने कहा…

रीती हुई जिन्दगी मे
गीत रहे हो तुम
तन्हा सफर में भी
मीत रहे हो तुम
बहुत सुन्दर है यह अनुभव ..

बहुत उत्तम रचना.

दीपक "तिवारी साहब" ने कहा…

सफ़लता के लिये शुभकामनाएं बःई स्वीकार किजिये.

ढपो्रशंख ने कहा…

इस सीरीयल मे कोई हमारे लिये रोल मिले तो हमे भी दिलवा दिजिये। हम समझता हूं कि हम एक्टिंग बहुते अच्छा करता हूं। एक ठो भोजपुरी फ़िल्म मे ट्रेन को झंडी दिखाने का रोल कर चुका हूं।
आपका जवाब का इंतजार करूंगा।

ढपो्रशंख ने कहा…

इस सीरीयल मे कोई हमारे लिये रोल मिले तो हमे भी दिलवा दिजिये। हम समझता हूं कि हम एक्टिंग बहुते अच्छा करता हूं। एक ठो भोजपुरी फ़िल्म मे ट्रेन को झंडी दिखाने का रोल कर चुका हूं।
आपका जवाब का इंतजार करूंगा।

makrand ने कहा…

bahut sundar geet, aanand aagaya.

मयंक ने कहा…

आपसे इससे ज़्यादा की अपेक्षाएं हैं....क्षमा कीजिएगा....पर आप बेहद उम्दा लिखते हैं सो अपेक्षाएं बढ़नी स्वाभाविक हैं....मुझे गीत बहुत ज़्यादा अच्छा नहीं लगा...ठीक ठाक लगा....आप आदमी कमाल हैं...लेखक कमाल हैं...यही आपका दोष है कि आपसे हमेशा असाधारण की अपेक्षा रहती है.....

Unknown ने कहा…

अच्छे गाने को अच्छे स्वर ने और अच्छे से सजा दिया
अच्छा लगा !

Nirantar ने कहा…

It was interesting reading .Nice blog .Congratulations
Dr.Rajendra Tela,"Nirantar"
Thanks for your encouragement and comments

Atul Gupta ने कहा…

Bahut hi romantic aur masti bhara Lajavab geet hai.bhi bas maja aa gaya. Kafi chupi hui pratibhayan aur bhi baki hain.........

Atul Gupta ने कहा…

Bahut hi romantic aur masti bhara Lajavab geet hai.bhi bas maja aa gaya. Kafi chupi hui pratibhayan aur bhi baki hain.........