रविवार, सितंबर 21, 2014

तितली

sl

 

तितली

उस रोज ऊगी थी

बगीचे मे मेरे

गुलाब को चूमते..

आ बैठती थी काँधे पर मेरे

अपनापन पहचान

बगीचे की खुशबू से..

अब बड़ी हुई

और उड़ चली

आज शाम

रंगबिरंगी ईठलाती..

इन्तजार मेरा कहता है कि

कह सुबह वो

फिर लौटेगी उपवन मे मेरे...

कौन जाने!!

कि महज एक सोच

हर उन बुजुर्ग आँखों की...

-समीर लाल ’समीर’

Indli - Hindi News, Blogs, Links

36 टिप्‍पणियां:

Amit Srivastava ने कहा…

यह तितलियाँ तो बस आँखों में ही बस पाती हैं ।

दिनेशराय द्विवेदी ने कहा…

सुन्दर!

Dr.Bhawna ने कहा…

Bahut gahan soch utari hai kalam se hardik badhai....

Dr. Shailja Saksena ने कहा…

Bahut sunder Sameer ji

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

वाह ...बहुत सुन्दर ....

Digamber Naswa ने कहा…

इंतज़ार रहना चाहिए ... आशा बनी बनी रहनी चाहिए ...
कुछ तितलियाँ जरूर लौटती हैं बुजुर्गों के पास ...

PRAN SHARMA ने कहा…

Kya Baat Hai! Antim Pankti Ne Kavita Mein Jaan Daal Dee Hai .

Ragini ने कहा…

बहुत खूब समीरजी
उम्मीदों की कश्ती को डुबोया नहीं करते .

Ragini ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Ragini Shrivastava ने कहा…

बहुत खूब समीरजी
उम्मीदों की कश्ती को डुबोया नहीं करते

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

तितलियाँ उड़ जाती हैं - पर एक बार लौटती हैं वहाँ जहाँ बड़ी हुई थीं .

Girish Billore ने कहा…

समीर भाई
अदभुत

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

मार्मिक

Asha Joglekar ने कहा…

हर बुजुर्ग की उम्मीद।

hem pandey(शकुनाखर) ने कहा…

किस्मत वालों की आस पूरी होती है।

hem pandey(शकुनाखर) ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
"Nira" ने कहा…

इंतज़ार और उम्मीद ज़िंदगी जीने के प्रेरणा देती है
बहुत ख़ूबसूरत रचना है
नीरा

प्रेम सरोवर ने कहा…

बहुत ही सुंदर प्रस्तुति ।मेरे पोस्ट पर आप आमंश्रित हैं।!

Kavita Rawat ने कहा…

कल सुबह वो
फिर लौटेगी उपवन मे मेरे...
कौन जाने!!
कि महज एक सोच
हर उन बुजुर्ग आँखों की...
..फिर भी इंतज़ार तो रहता है लेकिन तितली को बुजुर्ग की बात समय रहते समझ नहीं पाती ..
मर्मस्पर्शी रचना ..

Kavita Rawat ने कहा…

कल सुबह वो
फिर लौटेगी उपवन मे मेरे...
कौन जाने!!
कि महज एक सोच
हर उन बुजुर्ग आँखों की...
..फिर भी इंतज़ार तो रहता है लेकिन तितली को बुजुर्ग की बात समय रहते समझ नहीं पाती ..
मर्मस्पर्शी रचना ..

ऋषभ शुक्ला ने कहा…

आपका ब्लॉग मुझे बहुत अच्छा लगा, और यहाँ आकर मुझे एक अच्छे ब्लॉग को फॉलो करने का अवसर मिला.
मैं भी ब्लॉग लिखता हूँ, और हमेशा अच्छा लिखने की कोशिस करता हूँ. कृपया मेरे ब्लॉग पर भी आये और मेरा मार्गदर्शन करें.

http://hindikavitamanch.blogspot.in/

नवीन जोशी @ http://navinjoshi.in/ ने कहा…

आपका ब्लॉग मेरे ब्लॉग "नवीन जोशी समग्र" के हिंदी ब्लॉगिंग को समर्पित पेज "हिंदी समग्र" (http://navinjoshi.in/hindi-samagra/) में शामिल किया गया है। अन्य हिंदी ब्लॉगर भी अपने ब्लॉग को यहाँ चेक कर सकते हैं, और न होने पर कॉमेंट्स के जरिये अपने ब्लॉग के नाम व URL सहित सूचित कर सकते हैं।

pbchaturvedi प्रसन्न वदन चतुर्वेदी ने कहा…

अनुपम प्रस्तुति....आपको और समस्त ब्लॉगर मित्रों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं...
नयी पोस्ट@बड़ी मुश्किल है बोलो क्या बताएं

savan kumar ने कहा…

तितली का आना उन रंगों की याद दिलाता हैं जो कहीं खो गए हैं------
http://savanxxx.blogspot.in

Chakresh Surya ने कहा…

बहुत बढ़िया जनाब :)

Pravesh Sharma ने कहा…

great hindi shayari blog.
I find a website of urdu shayari that is great and free
https://rekhta.org

Asha Joglekar ने कहा…

हर सुबह का इंतज़ार तितली को भी है कि वह जाये उपवन में मिले अपने प्रिय से।

दीपक भारतदीप ने कहा…

बहुत दिनों बाद आपकी टिप्पणी देखी। आप आजकल रहते कहां हैं?

दीपक भारतदीप ने कहा…

बहुत दिनों बाद आपकी टिप्पणी देखी। आप आजकल रहते कहां हैं?

Vinay Singh ने कहा…

मुझे आपका blog बहुत अच्छा लगा। मैं एक Social Worker हूं और Jkhealthworld.com के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारियां देता हूं। मुझे लगता है कि आपको इस website को देखना चाहिए। यदि आपको यह website पसंद आये तो अपने blog पर इसे Link करें। क्योंकि यह जनकल्याण के लिए हैं।
Health World in Hindi

Vinay Singh ने कहा…

मुझे आपका blog बहुत अच्छा लगा। मैं एक Social Worker हूं और Jkhealthworld.com के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारियां देता हूं। मुझे लगता है कि आपको इस website को देखना चाहिए। यदि आपको यह website पसंद आये तो अपने blog पर इसे Link करें। क्योंकि यह जनकल्याण के लिए हैं।
Health World in Hindi

Vinay Singh ने कहा…

प्रिय दोस्त मझे यह Article बहुत अच्छा लगा। आज बहुत से लोग कई प्रकार के रोगों से ग्रस्त है और वे ज्ञान के अभाव में अपने बहुत सारे धन को बरबाद कर देते हैं। उन लोगों को यदि स्वास्थ्य की जानकारियां ठीक प्रकार से मिल जाए तो वे लोग बरवाद होने से बच जायेंगे तथा स्वास्थ भी रहेंगे। मैं ऐसे लोगों को स्वास्थ्य की जानकारियां फ्री में www.Jkhealthworld.com के माध्यम से प्रदान करता हूं। मैं एक Social Worker हूं और जनकल्याण की भावना से यह कार्य कर रहा हूं। आप मेरे इस कार्य में मदद करें ताकि अधिक से अधिक लोगों तक ये जानकारियां आसानी से पहुच सकें और वे अपने इलाज स्वयं कर सकें। यदि आपको मेरा यह सुझाव पसंद आया तो इस लिंक को अपने Blog या Website पर जगह दें। धन्यवाद!
Health Care in Hindi

डॉ. जेन्नी शबनम ने कहा…

तितली के माध्यम से बुजुर्गों का इंतज़ार अपनों के लिए...

कह सुबह वो
फिर लौटेगी उपवन मे मेरे...
कौन जाने!!
कि महज एक सोच
हर उन बुजुर्ग आँखों की...

बहुत उम्दा अभिव्यक्ति, बधाई.

Ankur Jain ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति।

Ravi kant yadav justiceleague ने कहा…

बहुत सराहनीय प्रयास कृपया मुझे भी पढ़े | :-)
join me facebook also ;ravikantyadava@facebook.com

कहकशां खान ने कहा…

तितली रूपी रचना तितली के समान सुंदर लगी।