रविवार, नवंबर 17, 2013

नारे और भाषण लिखवा लो- नारे और भाषण की दुकान

हमारी एक नई घोषणा!!

आईए और जानिए हमारा एक नया व्यापार.....चुनाव के मौसम में एकदम ताजा.

हमारे यहाँ चुनाव के लिए नारे और भाषण लिखे जाते हैं.

हम एक निष्पक्ष, व्यवसायिक नारेबाजी संस्थान हैं. हमारे यहाँ कोई भेद-भाव, पक्षपात या किसी संप्रदाय विशेष का विरोघ या समर्थन नहीं किया जाता. कृपया नक्कालों से सावधान रहें- हमारी कोई ब्रान्च नहीं है.

हम वही लिखते हैं, जैसी ग्राहक की मांग होती है.

हर पार्टी के लिए,पार्टी के स्तर को देखते हुए- राष्ट्रीय स्तर ,प्रदेश स्तर और नगर के चुनाव क्षेत्र पर आधारित क्षेत्रानुसार नारे लिखे जाते हैं ।

प्रत्याशी स्तर के नारे लिखने में हमें विशेष दक्षता प्राप्त है. एक से बढ़कर एक बाहुबलियों की हमने नारों के माध्यम से संत स्वरुपा छबि स्थापित की है.

संपूर्ण भाषण लिखने के लिए, अति निम्न इतिहास के संदर्भों की गल्ति की गारंटी के साथ, अलग से ठेके लिए जाते हैं.

हमारे भाषण सरल ,सस्ते, सुन्दर और नारे संपूर्ण बहर में होते हैं.

गीत के रुप में नारे एवं पार्टी मुखिया की स्तुति लिखने के अलग से प्रबंध किए जाते हैं, गेयता की गारंटी और विशेष अनुरोध पर कम्पोजर, गायक गायिका का प्रबंध किया जाता है एवं उनके भाव अलग से देय होंगे. रिकार्डिंग स्टूडियों के मात्र रिफरेंस दिये जायेगे. उनका प्रबंध और डील कि जिम्मेदारी आपकी है. हम सिर्फ मदद कर सकते हैं.

हमारे संपर्क में शादियों में सेहरा गाने वाले भूतपूर्व सेहरा गायक भी हैं. आजकल शादी ब्याहों में उनकी जरुरत खत्म हो जाने से आपके स्तुति गान की मंच प्रस्तुति हेतु हम आपका उनसे संपर्क करवा सकते हैं, भाव ताव आपको करना होगा. ((यह काम हम मात्र दलाली के अर्थशास्त्र का पालन करते हुये कमीशन के लिए करते हैं)

हम आपके और आपकी पार्टी के फेवर से लेकर सामने वाले प्रत्याशी एवं पार्टी के विरोध में नारे लिखते हैं.

हमारी संस्थान का ध्येय: ’जैसा दाम, वैसा काम’

चुनाव जिताने की हमारी गारंटी नहीं है. हम सिर्फ असरदार नारे और भाषण लिखते हैं.

नीचे मात्र उदाहरण हेतु कुछ नारे दिये जा रहे हैं. जो बहर में न लगे, उन्हें मुक्त नव कविता की श्रेणी में रख कर पढ़ा जाये.

जैसे की बिल्डर के मॉडल होम पर बिल्डर का अधिकार होता है किन्तु आप चाहें तो उन्हें ऊँचे दाम पर सजा सजाया खरीद सकते हैं वैसे ही निम्न मॉडल नारे भी खरीदे जा सकते हैं.

जब तक आप इन्हें न खरीद लें, कृपया इनका इस्तेमाल न करें. यह कॉपीराईट कानून के उलंघन की श्रेणी में माना जायेगा. चोरी करके बच निकलने की गुजांईश कृपया यहाँ न अजमायें, अपनी यह कला चुनाव जीतने के बाद के लिए बचा कर रखें.

अगर आप नीचे दिये गये नारे खरीदना या नये नारे लिखवाना चाहते हैं तो कृप्या कमेंट कर अपना ईमेल एवं फोन पता प्रदान करें, हम नारेबाज आपसे संपर्क कर मोलभाव कर डील सेटल कर लेंगे.

हमारे संपर्क में चुनाव जीतने के पूजा पाठ एवं हवन, मंत्र बाजी आदि करने वाले धार्मिक महानुभाव भी जेल के भीतर और बाहर दोनों जगह हैं, उसके प्रबंध के लिए अलग से संपर्क करें. जेल के भीतर से भी असरदार अनुष्ठान की गारंटी संत शिरोमणि जी की रहेगी.

विशेष नोट -- संपर्कों का प्रबंध करने का यह काम हम मात्र दलाली के अर्थशास्त्र का पालन करते हुये कमीशन के लिए करते हैं...

कृप्या चुनावी सभा एवं रैलियों के लिए भीड़ जुटाने हेतु हमसे संपर्क न करें. यह कार्य हमारी संस्था ने पिछ्ले चुनाव में मीडिया के द्वारा प्रायोजित सेम भीड़ दोनों पार्टियों की रैली में भेजने के स्ट्रिंग ऑपरेशन में पकड़ाये जाने के बाद से बंद कर दिया है.

कृप्या हमसे एगजिट पोल करवाने की मांग न करें. इससे हमारे सभी प्रत्याशियों के प्रति समदृष्टा होने के मिशन स्टेटमेन्ट को चोट पहुँचने की संभावना बनती है.

कृपया दूसरी पार्टियों और प्रत्याशियों ने हमसे क्या लिखवाया है, उसकी हमसे मांग न करें. हमारा संस्थान राजनैतिक पार्टियों के समान ही आर टी आई के प्रावधानों से मुक्त है. हम इस तरह की जानकारियाँ गोपनीय रखते है किन्तु हमारे लेखन में इस जानकारी का हमारे पास होना आपको लाभ पहुँचायेगा ही.

नोट: गैर चुनावी मौसम में हम अन्य आयोजनों के लिए भी नारे लिखते हैं- जैसे सचिन का अंतिम मैच, फिल्म अवार्ड, कॉर्पोरेट स्लोगन आदि आदि.

 

election

मॉडल नारे (उदाहरण हेतु)- कॉपिराईट समीर लाल ’समीर’ उड़न तश्तरी वाले) 

बच्चा बोला गोदी में

मुझे भरोसा मोदी मे...

 

रामराज इस देश में

राम राहुल के भेष में

 

राहुल वही सितारा है

जनता को जो प्यारा है..

 

भ्रष्ट गये सब खाई में

जब ’झाडू’ लगी सफाई में...

 

संघर्ष अभी भी जारी है

अबकी ’आप’ की बारी है.

 

इतिहास पुनः दोहरायेगा

‘पंजा’ फिर से आयेगा...

 

नोट: तस्वीर साभार गुगल. किसी को वाजिब कॉपीराईट जैसी आपत्ति हो बता देना- शर्माना नहीं- हटा देंगे.

-समीर लाल ’समीर’

संपर्क साधें: udantashtari@gmail.com

Indli - Hindi News, Blogs, Links

46 टिप्‍पणियां:

arvind mishra ने कहा…

गज़ब भाई गज़ब -इधर आ जाईयो कुछ महीनो - अच्छी कमाई हुई जावेगी

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
--
आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज सोमवार को (18-11-2013) कार्तिक महीने की आखिरी गुज़ारिश : चर्चामंच 1433 में "मयंक का कोना" पर भी होगी!
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

मन के - मनके ने कहा…

आज़ाद हिंदुस्तान की विरासत--नारों में नारीबाजी.
देखिये कमाल,और सब हम कहते हैं,मगर प्याज का ज़िक्र नहीं करते,वे जानते हैं हम जुगाडू हैं बिना प्याज के भी काम चला लेगें.
दूर रह कर भी आप रुचि ले रहें है,धन्यवाद.

मुकेश पाण्डेय चन्दन ने कहा…

Idhar kaiyo ke pajame ke nare dhile ho gye sir ji....

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

ज़बरदस्त ...... :) समसामयिक और सटीक पोस्ट ...

Vaanbhatt ने कहा…

कहाँ थे आप...अपने ये सैम्पल सभी पार्टयों को भिजवा दीजिये...धंधा चल जायेगा...चुनावी मौसम में...बहुत ही सुन्दर, प्यारे स्लोगन्स और विचार...

jayaketki ने कहा…

Bahutai Badhia Likhkhe ho Sameer ji!

smt. Ajit Gupta ने कहा…

यह दुकान तो पक्‍की चलेगी। बढिया नारे हैं।

Satish Chandra Satyarthi ने कहा…

हाहाहा.. मस्त..
नए धंधे के लिए शुभकामनाएं.

expression ने कहा…

बहुत बढ़िया.............
दैनिक भास्कर में एक कांटेस्ट चल रहा है...daily चुनावी स्लोगन....इनामी प्रतियोगिता है :-)
आपको तो सबमें इनाम मिलेगा.

सादर
अनु

अन्तर सोहिल ने कहा…

मजा आ गया
ताऊमय पोस्ट

प्रणाम

Digamber Naswa ने कहा…

वाह समीर भई ... ये चुनावी बिसनेस मस्त है ... काम ज्यादा हो जाए तो कुछ इधर भी शिफ्ट कर देना ...

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ ने कहा…

jai ho! badhai

सरिता भाटिया ने कहा…

वाह वाह क्या बात
खूब चमकेगा आपका धंधा
आपको subscribe कैसे करें ताकि आपको रोज पढ़ सकें
या आप हमें add कीजिए
शुक्रिया

सरिता भाटिया ने कहा…

वाह वाह क्या बात
खूब चमकेगा आपका धंधा
आपको subscribe कैसे करें ताकि आपको रोज पढ़ सकें
या आप हमें add कीजिए
शुक्रिया

PRAN SHARMA ने कहा…

PRIY SAMEER JI , SAHEE WAQT PAR
SAHEE LEKHAN DIL KO CHHOO GYAA
HAI . AAPKEE LEKHNI KO SALAAM .

सतीश सक्सेना ने कहा…

यह दूकान खूब चलेगी ...

डॉ टी एस दराल ने कहा…

अब आप भी एक टिकेट की मांग कर ही डालो ! जीत निश्चित है !

Rajesh Kumari ने कहा…

आपकी इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार१९/११/१३ को राजेश कुमारी द्वारा चर्चामंच पर की जायेगी आपका वहाँ हार्दिक स्वागत है।

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

हा हा हा....जोरदार दुकान लगाई है पर सीजनल धंधा है. ध्यान रहे कि पांच साल के लिये इसी समय पूरी कमाई कर लेनी है.:)

रामराम.

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

ताऊ पार्टी के लिये भी कोई संपल का नारा लिखा हो तो बताईये. ताऊ पार्टी से भी तगडा काम दिलवा देंगे.:)

रामराम.

Yashwant Yash ने कहा…

कल 20/11/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
धन्यवाद!

वाणी गीत ने कहा…

कमाई का अच्छा धंधा ढूंढ लिया …
मारक !

Bhavana Lalwani ने कहा…

pahli baar aapko padha.. bahut hi shandar likha hai aapne .. khastaur par ye naare toh ekdum ready to use hai :) :)

नीलिमा शर्मा ने कहा…

वाह वाह कितने स्लोगन की बुकिंग हो चुकी अभी तलक :)))

नीलिमा शर्मा ने कहा…

http://hindibloggerscaupala.blogspot.in/ शुक्रवारीय चर्चा २२/११/२०१३ में आपकी इस पोस्ट को शामिल किया जा रहा हैं कृपया अवलोकन हेतु पधारे

डा.अरविन्द चतुर्वेदी Dr.Arvind Chaturvedi ने कहा…

अच्छा है. गोदी वाला नारा खूब चलेगा.अब एक नारा आप के लिए: " ये दूकान चल जायेगी, घर घर कमल खिलायेगी".

डा.अरविन्द चतुर्वेदी Dr.Arvind Chaturvedi ने कहा…

अच्छा है. "ये दूकान चल जायेगी, घर घर कमल खिलायेगी"

डा.अरविन्द चतुर्वेदी Dr.Arvind Chaturvedi ने कहा…

अच्छा है. गोदी वाला नारा खूब चलेगा.अब एक नारा आप के लिए: " ये दूकान चल जायेगी, घर घर कमल खिलायेगी".

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

पंजा फिर से आएगा :D

Hari Shanker Rarhi ने कहा…

achchha manoranjan kiya aapne. Vyangya bhi achchha ban pada hai.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

आपकी कन्सल्टेन्सी तो बहुत ढंग से चल निकलेगी, लोकलुभावने नारे।

रश्मि प्रभा... ने कहा…

डायरी
अनकही बातों की
अनकही सोच की
अनकही मुलाकातों की
अनकहे रिश्तों की - ख़ास दोस्त होती है
अगर दोस्त को सम्भाल के रखो
तो वह दोस्ती निभाती है
किसी से कुछ नहीं कहती
पर सहनशीलता की हदें टूटने लगे
तो डायरी अपने पन्नों की सरसराहट में
सबकुछ कहती है
अनुमान के कांच तोड़ती है डायरी
हंसी के पीछे छुपे दर्द की कराहटें कहती है डायरी …
http://www.parikalpnaa.com/2013/12/blog-post.html

ARUN SATHI ने कहा…

कौन कौन पार्टी का टेंडर मिला दादा ....जबरदस्त ...लिखा ....आपने अंदाज में ..

hinditime.com ने कहा…

बहुत अच्छा लेख
मेरे ब्लॉग पर पधारे www.hinditime.com

Ranjana Verma ने कहा…

जबरदस्त ....!!!

Ranjana Verma ने कहा…

जबरदस्त ....!!!

Fiza Dawn ने कहा…

Bahut dino baad purane sathiyon ki talaash mein yahan tak aa pahunchi aaj… bada maza aaya aapki prastuti padhkar… shubhkamanayein :)

Umeed hai aap mujhe bhule nahi :)

Udan Tashtari ने कहा…

कतई नहीं भूले ..उस जमाने के साथी याद आते हैं नित!!

alka sarwat ने कहा…

चिंतन को और धार दीजिए जल्दी ही लोग आपसे संपर्क साधने पहुंचेंगे
बधाई


कुछ जड़ी बूटियों को घड़े में हल्दी के साथ बंद करके मैंने एक दवा तैयार की है जो बुढ़ापे के असर को अस्सी प्रतिशत तक कम कर देगी ,नये बाल उग जायेंगे ,टूटे दांत भी निकल सकते हैं हड्डियों और जोड़ों के सारे दर्द गायब हो जायेंगे। अगर आपको चाहिए तो फोन कीजिये मुझको।

Prasanna Badan Chaturvedi ने कहा…

उत्तम...इस प्रस्तुति के लिये आप को बहुत बहुत धन्यवाद...

नयी पोस्ट@ग़ज़ल-जा रहा है जिधर बेखबर आदमी

Prasanna Badan Chaturvedi ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Prasanna Badan Chaturvedi ने कहा…

बहुत दिनों से मौन साधे हुए हैं...ऐसा क्यों?
आप को मेरी ओर से नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं...

नयी पोस्ट@एक प्यार भरा नग़मा:-तुमसे कोई गिला नहीं है

डॉ. जेन्नी शबनम ने कहा…

बहुत खूब.

उड़न तश्तरी जिंदाबाद...

mai... ratnakar ने कहा…

वाह!!! क्या चुटकी ली है और क्या ज़ोरदार नारे तैयार किये हैं!!!!!!!!! पूर्व में चिट्ठाजगत पर आपकी रचनाओं से रूबरू होने का अवसर मिला था, अब अरसे बाद फिर आपका लिखा पढ़ कर और भी मज़ा आ गया

Jitendra Brahmbhatt ने कहा…

जहाँ चुनावी माहौल होगा, यह धंधा तेजी से चलेगा।