बुधवार, अप्रैल 06, 2011

आज कोई पोस्ट नहीं...

उड़न तश्तरी की गुरुवारीय पोस्ट अन्ना के आंदोलन के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रकट करते हुए नहीं लगाई जा रही है.


-समीर लाल ’समीर’
Indli - Hindi News, Blogs, Links

64 टिप्‍पणियां:

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

आप का आव्हान सच्चा है, स्वीकार है।
अपने जीवन में बेईमानी को कोई स्थान नहीं।

Rahul Singh ने कहा…

खुद भले तो जग भला.

Kajal Kumar ने कहा…

ये भी सही बात है

खुशदीप सहगल ने कहा…

अन्ना की लड़ाई किसी व्यक्ति से नहीं सिस्टम से है...

सिस्टम जो भ्रष्टाचार को दीमक की तरह देश को खाने का मौका देता है...

अब बस चाहिए एक ऐसी तलवार (जन लोकपाल) जो भ्रष्टाचार को जहां कहीं भी देखे, उसका सिर कलम कर दे...

जय हिंद...

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

एकदम सटीक ...सच्ची और अच्छी बात

abhi ने कहा…

हम भी साथ हैं.

दर्शन कौर धनोए ने कहा…

Hum bhi aapke sath haae ?

Arvind Mishra ने कहा…

इससे बड़ी पोस्ट क्या होगी ?
एनी ब्लागरों के लिए भी अनुकरणीय !
मैं बिना लिखे ही आज कोई पोस्ट नहीं लगा रहा अन्ना के समर्थन में !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

हम आपके साथ हैं।

सतीश सक्सेना ने कहा…

बढ़िया कदम .....
आभार !

Shah Nawaz ने कहा…

कुछ और अगर ना भी कर पाए तो अपने अन्दर के भ्रष्टाचारी को तो ख़त्म कर ही सकते हैं...

हमारा भी समर्थन...

ajit gupta ने कहा…

न्‍याय सबके लिए समान होना चाहिए। आम जनता पर सीधी कार्यवाही और नौकरशाहों और राजनेताओं पर नहीं। आखिर ऐसा कब तक चलेगा? कब तक ये राजा बने रहेंगे और हम प्रजा?

अजय कुमार झा ने कहा…

बहुत सटीक और एकदम सही बात ...। आप हमारे हम आपके साथ हैं ...भ्रष्टाचार की ऐसी की तैसी ...मैं भी आज निकल रहा हूं

anju ने कहा…

हम सब अन्ना के साथ हैं .

वाणी गीत ने कहा…

एकदम सटीक ...
हमारा भी वैचारिक समर्थन है !

mark rai ने कहा…

ji ham saath hai aur achcha laga yah sunkar ki anna ek vyakti nahi balki ek vichaardhaara hai ..jaise gandhi ji the...

सञ्जय झा ने कहा…

no post.....no comment....
but 'war against corruption'...
stand by 'anna' do more sentiment...

pranam.

Navin C. Chaturvedi ने कहा…

करीब 17 साल पहले एक स्थानीय दैनिक के उस वक्त के मेरे कॉलम 'ठाले-बैठे' में लिखा था ये समीर भाई:-

करना है तो बातें क्या, कर के दिखलाओ|
अण्णा, शेषन, खैरनार बन के दिखलाओ|

शेषन जी और खैरनार जी के बारे में तो फिलहाल कुछ खबर नहीं, पर हाँ अण्णा साहब जरूर अपना लंगर डाले हुए हैं|

भ्रष्टाचार के खिलाफ उन की लड़ाई में हम सब उन के साथ हैं|

सम्वेदना के स्वर ने कहा…

भेड़िय़ॉं के झुंड़ में
दो दिनों से बहुत खलबली है।

एक गाय नें अपने सींग में
शमशान की राख मली है।

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

देश की आवाज, सबकी आवाज, अपनी आवाज.

भ्रष्टाचार पर पुरजोर अंकुश हो.

यादें ने कहा…

अच्छी सोच ले लिए !अच्छी पहल के लिए !
नई पीडी के अच्छे भविष्य के लिए !
शुभकामनाएँ एव् आशीर्वाद!
अशोक सलूजा !

mridula pradhan ने कहा…

bahot achcha laga yah aahwan......

घनश्याम मौर्य ने कहा…

ऐसी किसी भी पहल के लिए सदैव मेरा समर्थन रहेगा।

मीनाक्षी ने कहा…

खुद को ईमानदार बना लें , यही सबसे बडा समर्थन है ...

मेरे भाव ने कहा…

अन्ना की आवाज एक सच्चे भारतीय की आवाज है. समर्थन .

मेरे भाव ने कहा…

अन्ना की आवाज एक सच्चे भारतीय की आवाज है. समर्थन .

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

यह सबसे उपयोगी पोस्ट है!
मेरा भी समर्थन है!

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…

आदरणीय समीर जी ,

बिलकुल सत्य वचन हैं आपके | आपका आह्वान शत प्रतिशत स्वीकार्य होना चाहिए |

अन्ना जी आज़ाद भारत के गाँधी हैं , हमें उनका जी-जान से साथ देना है |

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

सच्चा आह्वान ...

सदा ने कहा…

बिल्‍कुल सही कहा आपने ।

nilesh mathur ने कहा…

हम भी इस मुहीम में साथ हैं, अन्ना जिंदाबाद!

कुमार राधारमण ने कहा…

फिर एक बूढ़ा नेतृत्व कर रहा है। लानत होगी यदि युवाओं का खून अब भी न खौले!

Parul ने कहा…

ho kahin bhi aag par ye aag jalni chahiye!

राजेश उत्‍साही ने कहा…

अन्‍ना हजारे,हजारों हैं साथ तुम्‍हारे।

प्रिया ने कहा…

Is Vichardhara ko 200% samarthan hai ....Agar nahi bana Aanaaji ka Lokpaal bil to Revolution Hoga

akshay raj ने कहा…

it is the way to get corruption uprooted from the society....
i am with him
jai hind

दिगम्बर नासवा ने कहा…

इस लड़ाई में सब को साथ आना चाहिए ... हम भी इसके साथ हैं ...

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

हम आपके साथ हैं।

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

anna ke peechhe aana hi hoga...!

neelima sukhija arora ने कहा…

अन्ना की लड़ाई किसी व्यक्ति से नहीं सिस्टम से है...

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" ने कहा…

हर वो भारतवासी जो भी भ्रष्टाचार से दुखी है, वो देश की आन-बान-शान के लिए समाजसेवी श्री अन्ना हजारे की मांग "जन लोकपाल बिल" का समर्थन करने हेतु 022-61550789 पर स्वंय भी मिस्ड कॉल करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे. यह श्री हजारे की लड़ाई नहीं है बल्कि हर उस नागरिक की लड़ाई है जिसने भारत माता की धरती पर जन्म लिया है.पत्रकार-रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा"

Vaanbhatt ने कहा…

anna ke prati prtibaddhta srahaniya hai...beimaanon ko singapore ya middle east ki tarah saza milni chahiye...tabhi anna ka sapna sach hoga... sirf bill se kuch nahin hone wala...RTI ki tarah...system mein rah kar system se ladne walon ka hashr dekh bhi raha hoon aur jhel bhi...

डॉ टी एस दराल ने कहा…

एक सदी में एक अन्ना पैदा होता है ।
आओ इसे लाखों बनायें ।

shikha varshney ने कहा…

हम भी साथ हैं.

Sawai SIingh Rajpurohit ने कहा…

आदरणीय समीर लाल जी

शक्ति से ज़्यादा ताकतवर हैं आपकी पोस्ट

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

अन्ना की मुहिम हमारी अपनी मुहिम है... हम सब इसमें उनके साथ...

Minakshi Pant ने कहा…

पिछली बार जब वो अनशन पर बैठे थे तब _________
1 महाराष्ट्र सरकार के छ: भ्रष्ट मंत्रियों को इस्तीफा देना पड़ा |
2 400 भ्रष्ट अफसरों को नौकरी से निकलना पड़ा |
3 महाराष्ट्र में 2002 में सुचना का अधिकार अधिकार कानून लागु करना पड़ा |
4 2006 में केंद्र सरकार द्वारा सुचना का अधिकार कानून में संशोधन का प्रस्ताव वापस लेना पड़ा |
इस बार अन्ना जन लोकपाल बिल की मांग नहीं बल्कि हमारे बच्चों के भविष्य के लिए बैठे हैं |
hum saath saath hain

मनोज कुमार ने कहा…

इस आन्दोलन को समर्थन देने के लिए शब्द की ज़रूरत नहीं है। मौन और उपवास भी काफ़ी है।

Deepak Saini ने कहा…

हम भी साथ हैं.

cmpershad ने कहा…

सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं
मेरी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए

मेरे सीने में नहीं तो तेरे सीने में सही
हो कहीं भी आग, लेकिन आग जलनी चाहिए
--दुष्यंत कुमार

Sunil Kumar ने कहा…

एकदम सटीक ..

rashmi ravija ने कहा…

सहमत..
दूसरी बातें बेमानी सी लगती हैं

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

हमारा तो प्रतिदिन का कार्यक्रम चल रहा है.. दफ्तर से लौटते समय वाया जंतर मंतर!!

आकाश सिंह ने कहा…

हम सब साथ हैं |

शिक्षामित्र ने कहा…

आज अजय भाम्बी ने कहा है कि अण्णा जो कर रहे हैं,वह नक्षत्रीय कारणों से। उन्होंने भविष्यवाणी की है कि 23 तारीख तक मामला सुलझ जाएगा। नया लोकपाल विधेयक तो आएगा मगर उसमें ऐसे सुराख छोड़ दिए जाएंगे जिनसे सभी मंत्री भ्रष्टाचार के शिकंजे में न आ पाएं। बस,कुछ दिन और।

रचना ने कहा…



खुद ईमानदार होते हुए भी जब इंसान गरीब होता हैं और बेईमान को अमीर देखता हैं तो शायद रास्ता दिखना बंद हो जाता हैं

Pratik Maheshwari ने कहा…

मैं भी अन्ना जी के साथ हूँ और आज से हर दिन अपने रात का खाना छोड़ रहा हूँ जब तक अन्ना जी अनशन पर हैं..
अपनी तरफ से छोटी सी कोशिश..

पढ़े-लिखे अशिक्षित पर आपके विचार का इंतज़ार है..
आभार

विष्णु बैरागी ने कहा…

कोई भी शुरुआत खुद से ही करनी पडती है। सुधार के लिए दूसरे से शुरुआत की प्रतीक्षा करना अपने आप में भ्रष्‍टाचार है।

नीरज गोस्वामी ने कहा…

दुःख की बात है के एक सौ इक्कीस करोड़ भारतियों में सिर्फ एक ही अन्ना हजारे हैं...हम अगर अन्ना हजारे बन नहीं सकते तो कम से कम उनका साथ तो दे ही सकते हैं...

नीरज

rajendra awasthi ने कहा…

नीरज जी, हमारे लिए सौभाग्य की बात है की हमारे देश में अभी भी अन्ना हजारे जैसे, ईमानदार,जुझारू, कर्मठ,और क्रांतिकारी सोंच रखने वाले लोग हैं, हमारे पास उनको समर्थन देने का स्वर्णिम अवसर है और इस अवसर को हमें खोना नहीं चाहिए..समीर जी, आपको भी शुभकामनाएं..

सिद्धार्थ जोशी Sidharth Joshi ने कहा…

मैं भी अन्‍ना के साथ हूं...

rafat ने कहा…

जनाब एक टुटा हुआ शेर जन्म रहा है
तुम्हारे मसीहा होने पर तो मुझे कोई शक नहीं
सलीब उठाने वालों से क़त्ल की बू आ रही है
और जुलिअस सीज़र के अंतिम शब्द भी याद आये है
'इट टू ब्रूटस"
शुक्रिया

Richa ने कहा…

you can read shayari sms jokes
http://shayari10000.blogspot.com

कमलेश भगवती प्रसाद वर्मा ने कहा…

anna prtik bne hain 'navyug 'ke gandhi ke.
.koi nahi tik payega aage is aandhi ke...JAI HIND