रविवार, अक्तूबर 29, 2006

गुरु ग्रेग स्पेशल

आज भारत की टीम चैम्पियन ट्राफी से बाहर हो गई. उम्मीद और कयास तो पहले से ही लगाये जा रहे थे. आज सब अखबार, टी वी चैनल अपनी अपनी तरह से यह बात रख रहें है, तो हम अपनी तरह से कुण्ड़लीनुमा रचनाओं और हाईकु के माध्यम से:

//१//

क्रिकेट के इस खेल की, मची हुई है जंग.
ग्रेग बनें यमराज हैं, खिलाड़ी हो रहे तंग.
खिलाड़ी हो रहे तंग कि उनके क्या कहने है
जिसपे नज़र पड़ जाय, जुर्म उसको सहने हैं
कहे समीर के गुरु जी,तुम बिस्तर लो लपेट
बिन तेरे ही, हे प्रभु, हम सीख लेंगे क्रिकेट

//२//

चैंम्पियन ट्राफी में हुआ, यह कैसा अत्याचार
पाकिस्तान पहले गया, फिर भारत का बंटाधार
फिर भारत का बंटाधार कि अब खेलो गुल्ली डंडा
ग्रेग गुरु ही बतलायेंगे,जीत का फिर से हथकंडा.
कहे समीर कवि कि बैठ कर अब पियो शेम्पियन
गुल्ली डंडे के खेल में,बनना तुम विश्व चैंम्पियन.


हाईकु

खेलें क्रिकेट
गुरु ग्रेग हों संग
रंग में भंग.


-समीर लाल 'समीर' Indli - Hindi News, Blogs, Links

9 टिप्‍पणियां:

संजय बेंगाणी ने कहा…

विदेशी माल से
होगा विकसीत देश,
मान ऐसा करवाया था
गुरू, लिडर का निवेश.
मिले विपरीत परिणाम तो
उड़े हमारे होश,
इस सर कभी उस सर
फोड़ रहे सारा दोष.

SHUAIB ने कहा…

बहुत अफसोस हुआ समीर जी
तारीफ इतनी होगई कि पूरे भारतियों की दुआ तक काम ना आई

rachana ने कहा…

they say it was a match of 'do or die"..i say there was no match whatsever..they are masters of 'doing' and we (indian team)are habitual of 'dying'..where was the competition?

Pankaj Bengani ने कहा…

गम ना करो
यह है एक खेल
बस मज़े लो

किसका खेल
कौन खिला रहा है
इतना सोचो

Laxmi N. Gupta ने कहा…

अब प्रभु भेजो खिलाड़ी कोई हनुमान जैसा देसी
एक ही गेम मे।म कर दे आसियों की ऐसी तैसी

Jagdish Bhatia ने कहा…

वाकई दिल बहुत दुखी हुआ कल की हार से:(

Kalicharan ने कहा…

Hum honge kamyaab ek din :)

राकेश खंडेलवाल ने कहा…

बलिहारी है आपकी, ओ समीर महाराज
संजय, पंकज कर रहे अच्छी कविता आज
अच्छी कविता आज, सभी को रहे सिखाते
जिसको देखो वही टिप्पणी करता गाते
लक्ष्मीजी की रचना, रचना लिखें दुधारी
एक बार फिर से समीर तुम पर बलिहारी

Hitendra ने कहा…

हम 'ग़्रेगवादी' हैं। इस कविता का समर्थन तो नहीं कर सकते पर वाह-वाह ज़रूर कर सकते हैं।
ग्रेग भैया का क्या दोष? वो तो बेचारे फ़िर भी काम करते हैं। क्या आपने उनका कोइ विज्ञापन आजतक देखा?