रविवार, सितंबर 09, 2012

मुझे उस पेड़ का दर्द मालूम है.....

मोदी...फिर नीतिश कुमार...अब बाल ठाकरे ने सुषमा स्वराज का नाम प्रधान मंत्री पद के लिए आगे बढ़ाया....अडवाणी का नाम तो खैर है ही...राहुल का नाम दूसरी तरफ से तय है...मनमोहन सिंह के नेतृत्व में चुनाव लड़ने के बाद.... अन्य दिशाओं से मुलायम, लालू, ममता के नाम भी बीच बीच में उछलेंगे ही...

बाबा जी और टीम अन्ना तो खो खो खेल कर बैठ जायेंगे...उनसे सब निश्चिंत हैं इस क्यू में...वो देश की राय ही लेते और अपनी राय तय करते ही समय बिता देंगे और देश अपनी राय उपर वाली लिस्ट पर दे देगा चुनाव में...फिर उसी ओटन में खोजबीन करते...

किसी ने कहा कि सुषमा एल एल बी हैं...पढ़ी लिखी हैं...क्या बुराई है?

नितीश इंजिनीयर हैं..साफ सुथरी छवि है...क्या बुराई है?

अडवाणी जी अनुभवी हैं- क्या बुराई है?

राहुल युवा हैं- उर्जा से भरपूर...क्या बुराई है?

sam3

कोई मेरा नाम भी तो लो...सी ए हूँ...पढ़ा लिखा तो कहलाया ही...छवि भी लगभग साफ सुथरी है...उर्जावान भी ठीकठाक ही हूँ...अनुभव तो खैर बेटे का नाम है ही...तो अपनी सत्ता के अन्तर्गत आय़ा...तस्वीर भी चिन्तनशील व्यक्तित्व की दिख रही है...क्या बुराई है? और चाहिये भी क्या....जान ले लोगे क्या बच्चे की प्रधान मंत्री बनाने के लिए??

ले लो मेरा नाम...प्लीज़...ये सारे भी तो नाम ही हैं...बनना बनाना तो जिसे है वो तय है ही...लिस्ट में नाम रहे तो अच्छा लगता है...कोई नया नाम आये उसके पहले इनक्लूड करवा दो मेरा नाम......जल्दी...यहीं सहमती दर्ज करो....

कहीं सुना था:

एक पेड पर एक उल्लू बैठा करता था ,
एक दिन पेड काट दिया गया
पेड बहुत खुश हुआ
मगर उस की खुशी मिट्टी में मिल गयी
क्योंकि..........................
... पेड को काट कर उसकी एक मंत्री की कुर्सी बना दी गई
और इतिहास गवाही देने को तैयार है
"आज भी उस पर ...............एक उल्लू ही बैठा हुआ है '

मेरी चाह मात्र पेड की किस्मत बदल देने की है....आपकी किस्मत तो बदलना मेरे क्या, भगवान के बस में भी नहीं!!!

उड़ चला जिस रोज परिंदा, कुछ न बोला चुप रहा
पर वो एक नम डाल मुझको, पेड़ पर दिखती तो है....

(इस शेर की पहली पंक्ति किसी और की है…नाम भूल गया हूँ.)

इतना ही काफी जान लो मित्रों...कि कम से कम मैं देख तो पा रहा हूँ....ले दो नाम मेरा भी...शायद कुछ बदलने को हो!!!

Indli - Hindi News, Blogs, Links

46 टिप्‍पणियां:

yashoda agrawal ने कहा…

समीर भाई
शुभ प्रभात
आपसे मेरी पहली मुलाकात
इस मुलाकात में चोरों की बात
आपका स्वागत है नई-पुरानी हलचल मे
ये आपका रचना भी न मेरे साथ हो ली है
आप आइये इस बुधवार नई-पुरानी हलचल मे
मिल-बैठ कर पढ़ेंगे आपकी इस उलूकासन की कथा
सादर
यशोदा

Sunil Kumar ने कहा…

आपकी छवि भी अच्छी है आप कवि भी हैं आपके टी छत्तीस गुड़ मिल रहे हैं :):)

Shah Nawaz ने कहा…

Jay ho Maharaj!!!

Chaliye aapke naam ka prastav ham rakh dete hain...

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

कोई हमारी बात छापे तो हम आपका नाम लाने को तैयार है।

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

हम आपको सपोर्ट करने को तैयार हैं .

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

लिस्ट में नाम हो तो कम से कम पहचान तो बनती ही है ... बढ़िया कटाक्ष

GYANDUTT PANDEY ने कहा…

बन जाइये! कोई ऑब्जेक्शन नहीं मुझे! :)

रूप ने कहा…

चलिए भाई समीर जी , मेरी ओर से प्रधानमंत्री के वास्तविक उम्मीदवार और हक़दार आप ही हैं ! मेरी बधाई स्वीकार करें . लिखते रहिये . Kudos !

मन के - मनके ने कहा…

’ जान ले लोगे क्या---’
’बनना बनाना तो जिसे है वो ही---’
सत्य आपने खोज ही लिया तो अब चिंता काहे की.

मन के - मनके ने कहा…

’ जान ले लोगे क्या---’
’बनना बनाना तो जिसे है वो ही---’
सत्य आपने खोज ही लिया तो अब चिंता काहे की.

मन के - मनके ने कहा…

’ जान ले लोगे क्या---’
’बनना बनाना तो जिसे है वो ही---’
सत्य आपने खोज ही लिया तो अब चिंता काहे की.

मन के - मनके ने कहा…

’ जान ले लोगे क्या---’
’बनना बनाना तो जिसे है वो ही---’
सत्य आपने खोज ही लिया तो अब चिंता काहे की.

दिगम्बर नासवा ने कहा…

चलो अब आपने अपना नाम ले लिए तो मैं अपना नाम वापस लेता हूँ ... हा हा ... मज़ा आ गया समीर भई ... जल्दी ही फुल फॉर्म में आ रहे हो ...

डॉ टी एस दराल ने कहा…

हमारी वोट आपके लिए पक्की . लेकिन वायदे करने से पहले ही तोड़ दिए ! :)
जय हो महाराज .

mridula pradhan ने कहा…

......dekhiye kya malum aapki ichcha poori hi ho jaye.

shikha varshney ने कहा…

चलिए हमने कर दिया प्रस्तावित आपका नाम :)..वैसे वो कथा बहुत जानदार है.

Vinay Prajapati ने कहा…

:D

----
नया 3D Facebook Like Box 6 स्टाइल्स्‌ में
Google IME को ब्लॉगर पर Comment Form के पास लगायें

Markand Dave ने कहा…

मैं जनता का हिस्सा हूँ और शायद उल्लू भी..! क्या मैं भी क्यू में नाम दर्ज करवा सकता हूँ ?

Shri Samirji, Very Nice Article.

Thanks 4 sharing.

मन्टू कुमार ने कहा…

हमारा भी एक वोट रखिए....:)

Ramakant Singh ने कहा…

आपके नाम का मैं समर्थन करता हूँ . अग्रिम बधाई स्वीकारें २६ जनवरी को आपके संबोधन का इंतजार रहेगा .

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

अद्भुत पोस्ट भाई समीर जी

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

पेड़ का दुःख गया नहीं है अभी बल्कि बढ़ गया है... आपके आने से थोडा कम हो जायेगा लेकिन... सुन्दर व्यंग्य...

kshama ने कहा…

Bechare ullunnko ham bekar badnaam karte hain!

anju ने कहा…

मेरा और राजीव का वोट पक्का है :) आपके कटाक्ष हमेशा गहरे ही होते हैं ...अगले
का इंतज़ार रहेगा

VICHAAR SHOONYA ने कहा…

उफ्फ !!! कभी यहाँ सौ दो सौ टिप्पिनियाँ इधर उधार बिखरी पड़ी मिलती थीं.

Rajesh Kumari ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट रचना की चर्चा कल मंगलवार ११/९/१२ को राजेश कुमारी द्वारा चर्चा मंच पर की जायेगी आपका स्वागत है

mukti ने कहा…

आप इतने प्यारे हो, अगर आप प्रधानमंत्री बन गए तो देश की किस्मत सुधर जाय. लेकिन सोचो ये जोड़-तोड़ की राजनीति करने वाले आपको अपने मन की करने देंगे क्या :(
खैर अगर आपका नाम होगा, तो मेरा भी वोट पक्का. काश एक व्यक्ति एक से ज्यादा वोट दे सकता :(

Anupama Tripathi ने कहा…

jandar lekhan ...
shubhkamnayen Samir bhai ...

habib kavishi ने कहा…

आप तो वैसे भी इनसे आगे हैं, उड़न तश्तरी जो ठहरे

सदा ने कहा…

बेहद सशक्‍त लेखन ... आभार

रेखा श्रीवास्तव ने कहा…

चलिए पहले पार्टी का गठन तो कीजिये. ब्लोगर पार्टी चलेगी फिर आपका नाम का स्वागत करते हें. हम सब तैयार प्रचार और प्रसार के लिए . औरों से तो श्रेष्ठ हैं , फिर यहाँ से वापस जाने का सवाल भी ख़त्म हो जायेगा.

Maheshwari kaneri ने कहा…

सुन्दर व्यंग्य, बढ़िया लेख..

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

हम तो तैयार हैं आपका नाम लेने के लिये पार आप ये तो बताइये सर कि किससे कहना है :)


सादर

P.N. Subramanian ने कहा…

नहीं. आपको उल्लू बनने नहीं देंगे.

Pradeep ने कहा…

हा हा हा .. कटाक्ष था या ख्वाहिश ... जो भी था मजेदार था :D

Satish Chandra Satyarthi ने कहा…

हमारा वोट आपके साथ :)

रश्मि ने कहा…

मेरा वोट तो आपको जरूर मि‍लेगा समीर जी.....अच्‍छा व्‍यंग लि‍खा है आपने...

आशा जोगळेकर ने कहा…

पेड को काट कर उसकी एक मंत्री की कुर्सी बना दी गई
और इतिहास गवाही देने को तैयार है
"आज भी उस पर ...............एक उल्लू ही बैठा हुआ है '

मेरी चाह मात्र पेड की किस्मत बदल देने की है....आपकी किस्मत

आप क्यूं चाहते हैं इनकी जमात में शामिल होना ।

वाणी गीत ने कहा…

हम भी दे देंगे वोट आपको ,किसी अच्छे पड़ के लिए नोमिनेट करने का वादा तो कीजिये :)

Mired Mirage ने कहा…

किस दल से खड़े होंगे? निर्दलीय ही होना होगा. या फिर नया दल बनाएँगे? दलों की दलदल में फंस जाएँगे. खैर मेरा वोट भी आपके साथ है.
घुघूतीबासूती

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

इतनी सच्चाई से वादा करने वाले नेता कहाँ मिलते हैं! हमारा वश चले तो हम आपको प्रधानमंत्री के लिए अभहिने मनोनीत कर दें।

मैं कौन हूँ कहाँ से आया और कहाँ मुझे है जाना..... ने कहा…

उल्लू की कुर्सी पर उल्लू ही ठीक है
आप तो कवि है ...और ये जानते ही है जहाँ न पहुचे रवि वह पहुचे कवि....

अभी काफी दिलो में बस्ता है आपका नाम
उल्लुओ की लिस्ट आ गये तो हो जाओगे बदनाम.......
इसलिए आप जहा है वही रहिये ...और उल्लुओ की खिचाई जरी रखिये...

शोभना चौरे ने कहा…

पहले आप वादा कीजिये प्रधानमंत्री बनकर कही मौन व्रत तो नहीं ले लेंगे |
हमारा वोट तो पक्का है

आशा जोगळेकर ने कहा…

चलिये हम तो आप का नाम ले देंगे पर कनाडा की उस नम डाल का क्या कीजीयेगा ।

रोली पाठक ने कहा…

साहित्य से अब राजनीति :)
अवश्य आपको सपोर्ट करेंगे समीर जी... कोई तो अपना सत्ता में होगा :)

dr.awadhesh ने कहा…

sir, samasya ye aa rhi hai ki mai apna ek aur blog bnana chahta hoon par samajh nhi pa rha hoon ki bnaaoo kaise, please tell me something