शनिवार, अप्रैल 29, 2017

जैसे हवाई चप्पल के दिन बहुरे, वैसे सबके बहुरें!!


हवाई चप्पल वालों के लिए हवाई यात्रा की घोषणा कर साहेब ने यह तो कर दिखाया कि अच्छे दिन वाली बात पूरी तरह से हवाई किला नहीं थी, एकाध कमरे असली भी बन रहे हैं.
अब बताईये कुतर्की ऐसा कह रहे हैं कि भले वो बंदा एयरपोर्ट तक आने के लिए टैक्सी का किराया न भर पाये मगर हवाई यात्रा की कीमत इतनी लुभावनी कि एक रात पहले ही घर से हवाई चप्पल पहने पैदल निकल ले.
घोषणाओं और उससे जुड़े नियमों के नित बदलाव के पुराने अनुभव ऐसे रहे हैं कि हो सकता है कि कल जब आप हवाई चप्पल पहने शिमला जाने के हवाई सपने सजाये हवाई अड्डे पहुँचे तब तक कोई नया नियम आ चुका हो, मसलन:
  • सिर्फ हवानी कम्पनी की हवाई चप्पल ही हवाई यात्रा के लिए मान्य है.
  • केवल भीम एप से खरीदी गई चप्प्लें ही मान्य हैं.
  • तीन महीने से ज्यादा पुरानी चप्पलें वैध्य नहीं हैं? कृप्या उनका रिन्यूवल करा कर वापस आवें.
  • सिर्फ हवानी कम्पनी की हवाई चप्पल में चीप लगी है, जिससे आपको अपना आधार कार्ड अटैच करना होगा, अन्यथा आप यात्रा नहीं कर सकते.
  • कृप्या ध्यान रखें कि यह हवाई चप्पले पहनने के लिए नहीं हैं. इसे आप सिक्यूरीटी चैक पर अपने पहचान पत्र, आधार कार्ड के साथ तल्ला उपर की तरफ करके दिखायें. सिक्यूरीटी को जरा भी डाऊट होने पर कि यह चप्पल आपने कभी पहनी हैं, वो आपको यात्रा करने से रोक सकता है.
  • कृप्या हवाई यात्रा के दौरान हवाई कर्मचारियों को मारने के लिए इस चप्पल का इस्तेमाल न करें. यह दंडनीय अपराध है. उस पावन कार्य हेतु आप चमड़े की या कोल्हापुरी चप्पल का इस्तेमाल करें.
  • हवाई चप्पल का धारक जिसका आधार कार्ड चप्पल से अटैच हो, वही बस यात्रा कर सकता है, चप्पलें भले सेम साईज की हो, मगर ट्रास्फरेबल नहीं हैं.
  • कृप्या ध्यान दें कि यात्रा से वापस आकर चप्पलें अपने जन धन खाते से जुड़े लॉकर में सुरक्षित रखें. चप्पल खरीदते समय आधार कार्ड के साथ साथ आपको अपने लॉकर का पता भी दर्ज करना होगा.
  • यात्रा समाप्ति के २४ घंटे के भीतर चप्पल लॉकर में ने जमा करने पर प्रति दिन ५०० रुपये का जुर्माना भुगतान करना होगा.
  • हवाई चप्पल गुम हो जाने की दशा में, तुरंत एफ आई आर दर्ज करा कर, इन्हें नई चप्पल से रिप्लेस कराना होगा जिसका एडमिन चार्ज पहली गुमाई पर ३००० रुपये और उसके बाद प्रत्येक गुमाई पर ५००० रुपया होगा.
  • हर तीन माह में हवाई चप्पल का रिन्यूवल हवानी कम्पनी के लोकल दफ्तर से कराना होगा, जिसका रिन्यूवल चार्ज ५०० रुपया होगा जो मात्र भीम एप के जरिये देय होगा.
  • हवाई जहाज में एन्ट्री पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर होगी. बाकी यात्री अपनी हवाई चप्पल पुनः अपने लॉकर में जमा कर आराम से घर पर बैठें.
  • जन धन खाते से जुड़े लॉकर का प्रति ऑपरेशन चार्ज ५०० रुपये एवं सालाना किराया ३००० रुपया प्लस सर्विस टैक्स अलग से लगाया जायेगा.
  • हवाई चप्पल कोटा के यात्री कृप्या ध्यान दें कि अपनी हवाई चप्पल अपनी सीट के सामने वाली पाकेट में फंसा कर रखें ताकि कहीं भूले से एयर होस्टेस आपको नार्मल यात्री समझ कर चाय पानी न पूछ बैठे.
बाकी तो अच्छे दिन आ ही गये हैं कृप्या हवाई जहाज में चढ़ने से पहले साहेब का जयकारा लगाना न भूलें.

 -समीर लाल ’समीर’

#व्यंग्यकीजुगलबन्दी #vyangyakijugalabandi #Jugalbandi #जुगलबन्दी

Indli - Hindi News, Blogs, Links

3 टिप्‍पणियां:

राजीव तनेजा ने कहा…

बढ़िया व्यंग्य

GYANDUTT PANDEY ने कहा…

हम हवाई चप्पल वाले जब हवाई जहाज में चढ़ेंगे तो चप्पल के साथ हवाई जहाज की सीढियों पर अपनी सेल्फी ले कर पोस्ट करेंगे! :)

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (02-05-2017) को
सरहद पर भारी पड़े, महबूबा का प्यार; चर्चामंच 2626
पर भी होगी।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'