मंगलवार, मार्च 14, 2017

होली पर भंगेड़ियों के लिए जनहित में जारी वैधानिक चेतावनी


कृप्या भांग के नशे में निम्न कार्य न करें:
  • बुलेट ट्रेन के आने का इन्तजार कतई न करें. जो भी पैसेन्जर ट्रेन मिले, लटक कर निकल लिजिये. कभी न कभी गंतव्य पहुँच ही जायेंगे.
  • अच्छे दिन आ चुके हैं, यह आप खुद अपने मताधिकार का इस्तेमाल करके बता चुके हैं अत: अब अच्छे दिन का इन्तजार करना दंडनीय अपराध की श्रेणी में आ गया है.
  • ई वी एम मशीन कभी सॉरी नहीं बोलती, जो बोल दिया है वो ही सत्य है. अतः भांग के नशे में आकर इस जनमत के बदलने का इन्तजार मत करना.
  • स्मार्ट सिटी स्मार्ट शहरवासियों से बनती है, इसलिये अपने शहर के स्मार्ट होने का इन्तजार न करें. खुद स्मार्ट बनिये और सबको बताने लगिये कि आपका शहर अब स्मार्ट हो गया है. इसी तर्ज पर सभी शहर स्मार्ट हो जायेंगे.
  • भांग के नशे में उपजे किसी भी क्रांतिकारी विचार को फेसबुक या व्हाटसएप्प पर डालने की हिम्मत मत करिये, वरना परिणाम घातक सिद्ध हो सकते हैं.
  • बैंक खाता खोलना जरुरी है, खोलिये मगर उसका इस्तेमाल मत करिये, वरना महिने में ४ बार से ज्यादा इस्तेमाल के बाद हर बार दण्ड भरना पड़ेगा.
  • नोटबंदी पर बात करना भी अब सश्रम दंडनीयअपराध है. इसमें पेरोल पर भी छूटने का कोई प्रावधान नहीं है. पूरा देश (उप्र + उत्तराखण्ड) जब इससे इत्ता खुश है तो इससे दुखी व्यक्ति मात्र अराजकता फैलाने के लिए दुखी दिखा माना जायेगा.
  • सेल्फी खींच कर फेसबुक पर डालने के पहले फोटो में एक बार अपने आसपास देख लें कि कहीं कोई कचरा तो नहीं फेला है. स्वच्छ भारत अभियान का साथ न देना नैतिक अपराध माना जायेगा. आप धरे जा सकते हैं.
  • डिजिटल इण्डिया कार्यक्रम लागू कर दिया गया है, अतः मात्र इसलिए कि कोई देख नहीं रहा है, कुछ भी ऐसा क्रांतिकारी बयान न दें जिससे आप धर लिए जायें. हमेशा किसी बड़े शायर का यह शेर ध्यान रखें 
ये सोचना गलत है कि तुम पर नजर नहीं
मसरूफ हम बहुत हैं ; मगर बेखबर नहीं ...

 इन सारी सावधानियों के बाद भी जब नशा टूटे तो सब से जाने अनजाने में हुई अपनी भूलों के लिए क्षमा अवश्य मांग लिजियेगा. इसके लिए फेस बुक और व्हाटसएप्प पर स्टेटस लगा सकते हैं.
इतना समझाने के बाद भी अगर न माने, जो कि आप नहीं ही मानेंगे तो आप अपनी सुरक्षा का इन्तजाम स्वंय करें. मित्र जबाबदार नहीं होंगे.

डिस्क्लेमर: इसे मात्र होली का हुड़दंग के सिवाय कुछ भी मान लेने वाले अपनी समझ के लिए खुद जिम्मेदार माने जायेंगे.

-समीर लाल समीर
Indli - Hindi News, Blogs, Links

3 टिप्‍पणियां:

HARSHVARDHAN ने कहा…

आपकी ब्लॉग पोस्ट को आज की ब्लॉग बुलेटिन प्रस्तुति 140 साल का हुआ टेस्ट क्रिकेट मैच और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। सादर ... अभिनन्दन।।

Kavita Rawat ने कहा…

ये सोचना गलत है कि तुम पर नजर नहीं
मसरूफ हम बहुत हैं ; मगर बेखबर नहीं ..

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (19-03-2017) को

"दो गज जमीन है, सुकून से जाने के लिये" (चर्चा अंक-2607)

पर भी होगी।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'